Wednesday, March 09, 2011

बाबा रामदेव ने किया 'विश्‍वासघात', कांग्रेस ने दी नार्को टेस्‍ट की चुनौती


बाबा रामदेव की ओर से भाजपा को बतौर चंदा 11 लाख रुपये दिए जाने की खबर सामने आने के बाद कांग्रेस ने तीखी प्रतिक्रिया जाहिर की है। पार्टी का कहना है कि योग गुरू ने लोगों के दान के पैसे को किसी राजनीतिक दल को देकर जनता के साथ विश्‍वासघात किया है। कांग्रेस प्रवक्‍ता मोहन प्रकाश ने कहा, 'लोग बाबा रामदेव को दान में पैसे देते हैं ताकि योग का विकास हो न कि बीजेपी का। यदि योग गुरू लोगों के दान का पैसा बीजेपी को देते हैं तो ऐसा कर वह दानदाताओं के साथ विश्‍वासघात कर रहे हैं। ढोंग और यथार्थ में हमेशा ही बहुत बड़ा अंतर होता है।

स्वामी रामदेव की संस्था पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने भारत की प्रमुख राजनीतिक पार्टियों में से एक भारतीय जनता पार्टी को 2009 के लोकसभा चुनाव से पहले दान में धन दिया। यह जानकारी आरटीआई कार्यकर्ता अफरोज आलम साहिल को सूचना का अधिकार के तहत प्राप्त हुई। सूचना का अधिकार के तहत मिली जानकारी के मुताबिक रामदेव की संस्था पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड ने भारतीय जनता पार्टी को चेक के जरिये 11 लाख रुपए दान दिए। पंजाब नेशनल बैंक का यह चेक (चेक नंबर-859783) 8 मार्च 2009 को काटा गया था। हालांकि पतंजलि योग ट्रस्ट से जुड़े आचार्य बालकृष्‍ण ने स्पष्टीकरण देते हुए यह स्वीकार किया कि पतंजलि आयुर्वेद कंपनी के खाते से 11 लाख रुपए का चेक भारतीय जनता पार्टी को दान के रूप में दिया गया। लेकिन उन्होने यह भी कहा कि इसके बारे में बाबा रामदेव जी या उन्हें कोई जानकारी नहीं थी।

काला धन के मुद्दे पर रामदेव और कांग्रेस के बीच तल्खी बढ़ती ही जा रही है। नेताओं को काले धन के मुद्दे पर नार्को टेस्ट कराने की बाबा की चुनौती को कांग्रेस सांसद प्रवीण ऐरन ने स्वीकार कर उलटे बाबा रामदेव को ही नार्को टेस्ट की चुनौती दी है। बरेली से सांसद ऐरन ने एक बयान जारी कर बाबा रामदेव पर नेताओं की छवि खराब करने और गैरजिम्मेदाराना आरोप लगाने की बात की। उन्होंने कहा कि रामदेव और कुछ तथाकथित सामाजिक कार्यकर्ता अपने राजनीतिक स्वार्थों के लिए पूरी राजनीतिक व्यवस्था का अपमान कर रहे हैं। 

ऐरन ने कहा कि वह खुद व उनकी मेयर पत्नी नार्को टेस्ट कराने के लिए तैयार हैं कि उन्होंने काले धन का या रिश्वत का चुनाव में कभी उपयोग नहीं किया। उन्होंने कहा कि बाबा और उनके संस्थान चलाने वाले तमाम लोग नार्को टेस्ट कराएं और इन सवालों का जवाब दें कि जमीन या हेलीकॉप्टर खरीदने में काले धन का उपयोग नहीं हुआ। साथ ही वो आमदनी के स्रोतों के बारे में भी खुलासा करें।कांग्रेस के अन्‍य सांसद भी ऐरन के साथ आ गए हैं। कांग्रेसी सांसद प्रदीप टमटा और विनय पांडेय ने भी बाबा की नार्को टेस्ट कराने की चुनौती स्वीकार की है।

कोट 
राजनीतिक पार्टियों को फंड कहां से मिलता है? मैं संसद में चार साल तक रहा हूं। यह चेक से नहीं मिलता है। यह पैसा काला धन होता है। काला धन आसमान से नहीं आता है। 
राहुल बजाज, बजाज ऑटो के चेयरमैन
आपकी बात
बाबा रामदेव के बारे में नए खुलासे पर आपकी क्‍या प्रतिक्रिया है? अगर वाकई रामदेव और बीजेपी के बीच करीबी रिश्‍ते हैं तो योग गुरू नई राजनीतिक पार्टी बनाने का ऐलान कर क्‍या संदेश देना चाहते हैं?

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...