Sunday, June 12, 2011

फोरबिसगंज (बिहार) फायरिंग के खिलाफ धरना




प्रेस नोट

फोरबेसगंज फायरिंग के मामले में पीड़ितों के लिए न्याय की मांग करने और इस मामले को आगे ले जाने के लिए मानव अधिकार कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, शिक्षकों और छात्रों की एक समिति कमेटी फॉर जस्टिस ऑफ़ दि फोरबेसगंज पुलिस फायरिंगका गुरुवार शाम को गठन किया गया. समिति राजधानी दिल्ली में बिहार भवन में इस फायरिंग के विरोध में एक धरना आगामी 13 जून (सोमवार) को आयोजित करेगी.
even year child who was killed in Forbesganj police firing (photo: http://twocircles.net)
ज्ञात रहे कि गत 3 जून 2011 को, बिहार के अररिया जिले में फोरबेसगंज ब्लॉक के रामपुर और भजनपुर गांवों के 5 व्यक्ति एक पुलिस फायरिंग में मारे गए थे. वे एक कारखाने के निर्माण के लिए दो गांवों से जोड़ने वाली सड़क की नाकेबंदी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहे थे. पुलिस ने न केवल प्रदर्शनकारियों पर गोली चलाई बल्कि उन्हें उनके घरों तक पीछा करके उन्हें मार डाला. पॉइंट ब्लैंक रेंज में जिन छह लोगों को गोली से मार डाला गया उनमें दो महिलाए और एक शिशु भी शामिल है.
A victim of Forbesgan police firing (photo: http://twocircles.net)
मानवाधिकार कार्यकर्ता और समिति के सदस्य महताब आलम ने कहा, “हम बिहार सरकार से तीन स्पष्ट मांग करते है”. उन्होंने कहा
1. “सबसे पहले, हम चाहते हैं कि पूरे घटनाक्रम की उच्च न्यायालय के एक वर्तमान न्यायाधीश से एक समय बद्ध न्यायिक जांच कराई जाए. 
2. दूसरे, इस घटना में शामिल सभी सभी पुलिसकर्मियों पर तत्काल भारतीय दंड संहिता की 307 धारा के तहत मामला और उनके खिलाफ एफआईआर के पंजीकरण में शामिल कर्मियों के तत्काल निलंबन और 
3. तीसरे, प्रस्तावित सांप्रदायिक हिंसा और लक्षित विधेयक के अनुसार मुआवजे के रूप में प्रत्येक परिवार के लिए कम से कम 10 लाख रुपये और आश्रितों में से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी दी जाये.

उन्होंने आगे कहा कि, “मीडिया के माध्यम से हम बिहार सरकार को बताना चाहते हैं कि अगर इन मांगों को 13 जून से पहले नहीं माना गया तो तो हम बिहार में अल्पसंख्यकों की हत्याओं को उजागर करते हुए चीनी दूतावास को भी एक ज्ञापन प्रस्तुत करेंगे”. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इस महीने की 13 तारीख को एक सद्भावना मिशन पर चीन की यात्रा पर जा रहे हैं. 
रूह कंपा देगा बिहार पुलिस की बर्बरता का यह वीडियो
बिहार पुलिस की बर्बरता का एक वीडियो इन दिनों इंटरनेट जगत पर सनसनी बना हुआ है। 
यह वीडियो ३ जून को बिहार के अररिया जिले के फोरबेसगंज में हुई पुलिस फायरिंग का है।

इस बीच समिति का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रीय महिला आयोग (एनसीडब्ल्यू) और राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) से मिलकर भी फायरिंग में मारे गए लोगों की घटना की जांच की मांग करेगा. कमिटी ने तमाम न्यायसंगत, लोक्तान्त्रन्तिक कार्यकर्ताओं एवं संगठनो से अपील किया है कि वो इस धरने में शरीक हों. कमिटी जल्द ही इस पूरे मामले कि जाँच के लिए अपना एक दल फोरबेस्गंज रवाना करेगी.

फोरबिसगंज (बिहार ) फायरिंग के खिलाफ धरना 
समय : 13 जून 2011 (सोमवार) , 11 बजे 
स्थान: बिहार भवन, 5, कौटिल्य मार्ग, अशोका होटल के निकट, चाणक्यपुरी, नई दिल्ली 
अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें : 09811209345 (महताब आलम)
कमिटी फॉर दी जस्टिस टू विक्टीम्स ऑफ़ फोरबिसगंज फायरिंग

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...