Sunday, June 12, 2011

भारतीय मीडिया का फारबिसगंज सिंड्रोम



Dilip Mandal
अगर आप बिहार से बाहर हैं तो इस बात की पूरी आशंका है कि अररिया के फारबिसगंज में हुए पुलिसिया हत्याकांड के बारे में नहीं जानते। अगर आप पटना में हैं तो भी यह शायद आपके लिए बड़ी खबर नहीं होगी। राज्य के हिला दे, ऐसी बड़ी खबर तो आप इसे नहीं ही मानते होंगे। ऐसा क्यों हुआ होगा, जानने के लिए नीचे का ब्यौरा गौर से पढ़ें।   

नीचे की लिस्ट में पहली एंट्री तारीख है, दूसरी तीसरी और चौथी एंट्री पहले पेज की तीन बड़े खबरों के बारे में हैं और आखिरी एट्री पहले पेज पर फारबिसगंज कांड की रिपोर्टिंग है। 


दैनिक हिंदुस्तान, पटना संस्करण, पहला पेज, 5-11 जून, 2011 
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड के संदर्भ में

5 जून
बाबा को मैदान छोड़ने का फरमान
हेडली का आका इलियास ढेर
बचना है तो पेड़ लगाएं
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड- कोई खबर नहीं

6 जून
आर पार को तैयार बाबा और सरकार
इंटर में भी छाए गांव के छात्र
धरहरा संदेश बढ़ाने फिर पहुंचे नीतीश
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

7 जून
और कोई रास्ता नहीं था (पीएम/रामदेव)
डॉक्टर हत्याकांड की सीबीआई जांच
समंदर से निकला शुगर का रामबाण इलाज
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

8 जून
निवेश का खुला खजाना
छह घंटे में पटना पहुंचने के लक्ष्य में जुड़ा एक और अध्याय
बापू के दर पर होगा अन्ना का अनश
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

9 जून
दूसरी लड़ाई का अल्टिमेटम (अन्ना)
अब पूरा देश देखेगा बिहार की सफलता की कहानी
आंधी पानी से भारी तबाही, 24 की मौत
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

10 जून
पास न होगा बीज बिल: नीतीश
मकबूल फिदा ने कहा दुनिया को अलविदा
एक जुलाई से मिलेगा टीटीई का फॉर्म
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

11 जून
ग्लूकोज से सुधरी सेहत (रामदेव)
सीबीएसई दसवीं में पटना रीजन के छात्रों का कमाल
ग्रामीण सड़कों के लिए बनेगा निगम: नीतीश
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

दैनिक जागरण, पटना संस्करण, पहला पेज, 5-11 जून, 2011 
अररिया हत्याकांड के संदर्भ में

5 जून
बाबा रामदेव का अनशन शुरू
मारा गया इलियास कश्मीरी
चाहिए शीतल छाव, चलिए गांव गिरांव
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

6 जून
नए आंदोलनों की तैयारी (अन्ना)
इंटर में भी ग्रामीण प्रतिभाओं का परचम
पेड़ लगाएं बेटी बचाएं
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-आरोपी होमगार्ड पर चलेगा हत्या का मुकदमा (1 कॉलम)

7 जून
केंद्र व दिल्ली सरकार को नोटिस
डॉक्टर हत्याकांड की होगी सीबीआई जांच: सीएम
डॉन का उठ गया आईएसआई से भरोसा
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

8 जून
अन्ना का अनशन अब राजघाट पर
निवेश का द्वार खोलेगी नई औद्योगिक नीति
ताजपुर से दरभंगा तक बनेगी चार लेन सड़क
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

9 जून
अन्ना ने किया लंबी लड़ाई का एलान
बयान से पलटे बाबा रामदेव
राज्यों ने रोया धन न होने का रोना
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

10 जून
अन्ना पर भी केंद्र रहेगा आक्रामक
सूबे में महंगी हुई शराब और बीयर
नहीं रहे एम एफ हुसैन
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-कोई खबर नहीं

11 जून
गुणवत्ता से समझौता नहीं (नीतीश)
सीबीएसई 10वीं में 99.5% सफल
रामदेव की हालत बिगड़ी
फारबिसगंज अररिया पुलिसिया हत्याकांड-फारबिसगंज में मारे गए बच्चे के परिजन को तीन लाख (2 कॉलम)

हिंदुस्तान और जागरण मीडिया समूह बिहार में टॉप 10 अखबारों की कुल पाठक संख्या का लगभग 90 फीसदी कंट्रोल करते हैं (देखें -इंडियन रीडरशिप  सर्वे)। आप अंदाजा लगा सकते हैं कि इन दो अखबारों ने भी अगर फारबिसगंज हत्याकांड को अंडरप्ले करने का तय कर लिया तो यह राज्य और देश का मुद्दा कैसे बनेगा। वैसे एक बात और। हिंदुस्तान टाइम्स मीडिया समूहों के मालिकों के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में बिहार के सत्ताधारी जनता दल यूनाइटेड के राज्य सभा के सांसद एन के सिंह भी हैं।


No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...