Friday, August 24, 2012

बाबा! यह सब क्या हो रहा है?



फर्जी दस्तावेजों के सहारे पासपोर्ट हासिल करने के मामले में फंसे बाबा रामदेव के सहयोगी बालकृष्ण पर अब प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लांड्रिंग का मामला दर्ज किया है. जल्द ही उन्हें गिरफ्तार किया जा सकता है. आरोप है कि बालकृष्ण ने फर्जी पासपोर्ट के सहारे विदेशों में जाकर वहां कई ट्रस्ट बनाएं और करोड़ों रुपये जमा किए हैं.

गौरतलब है कि पिछले साल जुलाई में सीबीआइ ने फर्जी दस्तावेजों के सहारे पासपोर्ट बनवाने के मामले में बालकृष्ण के खिलाफ एफआइआर दर्ज की थी. वह काफी दिनों तक जेल में बंद रहे. गत 17 अगस्त को उन्हें जमानत मिली थी. लेकिन अब ईडी को जानकारी मिली है कि विदेशों में रामदेव व बालकृष्ण के कई ट्रस्ट हैं और इसमें करोड़ों रुपये जमा है.
पासपोर्ट एक्ट का उल्लंघन मनी लांड्रिंग के तहत अपराधों की सूची में शामिल है. चूंकि बालकृष्ण का पासपोर्ट अवैध है, इसलिए कानून के तहत उनके ट्रस्ट में जमा पैसे भी अवैध है. इसी आधार पर ईडी ने मनी लांड्रिंग रोकने के कानून पी.एन.एल.ए. एक्ट के अंतर्गत उन पर मुकदमा दर्ज किया है. इसके तहत विदेशों में जमा किए गए पैसे को जब्त किया जा सकता है. आरोप साबित होने पर बालकृष्ण को सात साल जेल की सजा भी हो सकती है. ऐसे में ये विषय काफी चिंतनीय व सोचनीय है कि बाबा किसके लिए काम कर रहे हैं? वो चाहते क्या हैं? लेकिन इतना ज़रूर है कि जो व्यक्ति खुद ही भ्रष्ट हो, कर चोरी कर रहा हो और विदेशों में काला धन बना रहा हो, वो देश में भ्रष्टाचार व काले धन के खिलाफ आन्दोलन चलाए, यह उसे शोभा नहीं देता…
हमें नहीं पता कि बाबा किस के लिए काम कर रहे हैं? उन्होंने स्वयं यह बेड़ा अपने अंतरआत्मा की आवाज़ पर उठाई है या फिर उनके पीछे कोई और है, जो उनको यह साहस प्रदान कर रहा है कि काले धन और भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाते रहें, ताकि बाबा और उनके साथी पर भी कोई हाथ ना डाले और वह भी अपने उद्देश्य में सफल हो जाएं.
यानी यह कि कांग्रेस हटाओ देश बचाओ और महंगाई के खिलाफ़ जनता को खड़ा करने के बाद “हम भी” सफल और “तुम भी”… या वास्तव में बाबा की अंतरआत्मा उन्हें परेशान कर रही है और वो यह देखकर दुख व अफसोस से बदहाल हैं कि हमारे देश-वासी और नेता किस निचले स्तर तक पहुंच गए हैं. और अब जरूरी हो गया है कि बुराई के खिलाफ़ आवाज़ उठाई जाए. यदि वास्तव में ऐसा है तो बाबा आपको अपने बारे में और अपने साथी के बारे में सोचने का अवसर क्यों नहीं मिल रहा? और अगर यह सच है कि बाबा देश की उन्नति व सफलता के लिए ही ऐसा सब कुछ कर रहे हैं तो बाबा को तो उस भ्रष्टाचार से पाक होना चाहिए, जिसके खिलाफ उन्होंने आवाज़ उठाई है.
उठो बाबा उठो! अगर कर की चोरी में आप या आपके ट्रस्ट और आयुर्वेदिक दवाएं बनाने वाली आपकी कंपनियां आती हैं तो पहले उसका भुगतान करो. साथ ही बालकृष्ण और इन जैसे तमाम लोगों के खिलाफ आवाज़ उठाओ, तब ही देश और देश-वासियों को आप पर विश्वास होगा और देश आपका और आपके मिशन का पूरा साथ देगा.

No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...