Monday, November 18, 2013

नारायण साईं को लगी थी ग्रुप सेक्‍स की लत



किसी धर्मगुरु पर बलात्कार का इल्ज़ाम अपने-आप में चौंकानेवाला है. लेकिन अगर कोई धर्मगुरु बलात्कार से भी आगे बढ़कर अपने ही भक्तों के साथ ग्रुप सेक्स, यानी सामूहिक सेक्स करने लगे, तो इसे आप क्या कहेंगे? आसाराम के बेटे नारायण साईं पर जो नया इल्ज़ाम लगा है, वो कुछ ऐसा ही है. ये इल्ज़ाम अब सिर्फ़ इल्ज़ाम नहीं, बल्कि अदालत में पेश किए गए दस्तावेज़ का एक अहम हिस्सा है.

आस्था की रोशनी में आंखें कब की चौंधिया चुकी थीं, जीता-जागता इंसान कब का भगवान बन चुका था. मगर, इसी भगवान के चेहरे से जब पाखंड का नक़ाब उतरने लगा, तो देखने वाले बस देखते ही रह गए. भगवान का रूप धरकर पाप का मायाजाल बुनने वाले बाप-बेटे आसाराम और नारायण साईं पर बलात्कार और यौन शोषण का इल्ज़ाम तो कब के लग चुके थे. लेकिन अब नारायण साईं पर जो नया इल्ज़ाम लगा है, उससे अजीब और चौंकाने वाला इल्ज़ाम कोई हो ही नहीं सकता.

जी हां, नारायण साईं पर इल्ज़ाम है ग्रुप सेक्स का. ग्रुप सेक्स, यानी सामूहिक यौन क्रीड़ा का. दूसरे लफ्ज़ों में कहें, तो दो से अधिक की तादाद में एक ही वक़्त पर जिस्मानी ताल्लुकात कायम करने का. नारायण साईं पर ये इल्ज़ाम किसी ने चलते-फिरते नहीं, बल्कि सूरत के एक सरकारी वकील ने भरी अदालत में लगाया है.

सूरत के सरकारी वकील ने नारायण साईं के ही एक पुराने साधक के हवाले से अदालत को बताया है कि नारायण साईं एक ही वक्त में एक साथ 9-10 लड़कियों के साथ सेक्स करता था. नारायण साईं को ऐसा करते हुए खुद उसके साधक ने देखा, जिसने बाद में मजिस्ट्रेट के सामने दिए गए बयान में इस बात खुलासा किया. सरकारी वकील ने सीआरपीसी की धारा 164 के तहत रिकॉर्ड करवाए गए इस बयान का ज़िक्र करते हुए अदालत में मौजूद हरेक शख्स को चौंका दिया.

अपने बयान में इस साधक ने बताया है कि उसने एक ही वक़्त में 9-10 लड़कियों को एक साथ नारायण साईं के कमरे में रहस्यमयी हालात में और जाते हुए देखा. अनुष्ठान के नाम पर बंद कमरे में हुए इस खेल के बाद जब कमरे की सफ़ाई की गई, तो वहां ढेरों बीयर की बोलतें निकलीं. ये सब कुछ उसने एक बार नहीं, बल्कि कई बार खुद अपनी आंखों से देखा. इस साधक की बातों का यकीन करें, तो नारायण साईं बीयर और ग्रुप सेक्स का ज़बरदस्त शौकीन है और अक्सर नए-नए बहानों से ग्रुप सेक्स का मौका तलाशता रहता है.

लेकिन ये तो जैसे नारायण साईं पर लगे नए इल्ज़ामों की एक शुरुआत भर थी. सूरत पुलिस को अपनी तफ्तीश में ये भी पता चला कि नारायण साईं ने कई ऐसी शादीशुदा औरतों को अपने जाल में फांसने के लिए उनके पतियों को ही धोखे से दवाएं खिलाकर उन्हें नपुसंक बना दिया. ऐसी कोई महिला जब औलाद की आस लिए नारायण साईं के पास पहुंचती या फिर सत्संग में हाज़िर होती, तो उन्हें अपने पति को ताकत की दवा देने के नाम पर वो जडी-बूटियां दी जातीं, जिससे इंसान नपुसंक हो सकता है. इस तरह जब नारायण साईं अपने इरादे में कामयाब हो जाता, तो फिर अनुष्ठान और समर्पण के नाम पर ऐसी महिलाओं का भी यौन शोषण करता.


No comments:

Post a Comment

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...